जैसे…

है आरजू या तो बेपनाह या ख्वाहिश अधूरी रह गई हो जैसे थम रही हैं ये सांसें या फिर वक्त…

नहीं होता

  कुछ ऐसे रिश्ते भी होते हैं जिनका कोई नाम नहीं होता एक ऐसा सफर जहां हमसफर तो है लेकिन…

My attempt to be Creative 

Since childhood I always loved keeping myself busy in some or the other thing that was constructive and creative. And…

आज भी…

शहर के उस पुराने मकान में कोई रहता है आज भी उस फकीर के मकबरे में दीया जलता है आज…

रात भर!

  सितारों भरी रात और समां कुछ वीराना था मेरी मय्यत पर वो दीए जलाते रहे रात भर, उनकी खामोश…

NOTE TO SELF

Dear Me, Its been quite a time that we’ve been travelling this journey called “Life”. In all these years we…